सूरजपुर जिला पंचायत CEO हटाए गए : लोगों ने सीएम से की थी कमीशनखोरी की शिकायत, सीएम का हेलिकाप्टर उड़ते ही आदेश जारी, Surajpur Zilla Panchayat CEO removed


Raipur Chhattisgarh:
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने सरगुजा क्षेत्र के दौरे पर थे। वहां मिली शिकायतों पर उनहोंने तत्काल कार्रवाई की है। इसी कड़ी में लोगों की शिकायतों पर सूरजपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राहुल देव को हटा दिया गया है। उनकी जगह लीना कोसमी को सूरजपुर जिला पंचायत का नया CEO बनाया गया है। सूरजपुर से मुख्यमंत्री के हेलिकॉप्टर के टेकऑफ होते ही सामान्य प्रशासन विभाग ने तबादले का आदेश जारी कर दिया है। 


भारतीय प्रशासनिक सेवा 2016 बैच के अफसर राहुल देव को सूरजपुर से हटाकर जांजगीर-चांपा जिले में अपर कलेक्टर बनाया गया है। रविवार को प्रेमनगर विधानसभा में लगी चौपाल में कई लोगों ने जिला पंचायत में कमीशनखोरी की शिकायत की थी। आरोप था कि अधिकारी बीस फीसदी रकम लिए बिना कोई काम नहीं करते। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस शिकायत की जांच के निर्देश दिए थे। जांच होने तक जिला पंचायत CEO को हटाने पर बात हुई। सोमवार को मुख्यमंत्री के सूरजपुर से रवाना होते ही सामान्य प्रशासन विभाग ने तबादले का आदेश जारी कर दिया। मुख्यमंत्री को कई विभागों की शिकायत मिली है। इससे पहले सूरजपुर में पत्रकारों से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, अधिकांश अधिकारी अच्छा काम रहे हैं। जहां गड़बड़ी हो रही है, वहां सुधारने की जरूरत है। उन्होंने कहा, पंचायतों में काम सुधारने की जरूरत है। योजनाओं की धरातल पर स्थिति से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, योजनाएं अच्छी चल रही हैं। शिकायते राजस्व विभाग की हैं। उनका निराकरण कर रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ