छत्तीसगढ़ के इन दो टीकाकर्मियों ने बनाया सर्वाधिक टीकाकरण का रिकॉर्ड, इतने टीके लगाए जानकर रह जाएंगे हैरान, राष्ट्रीय सम्मान से नवाजा जायेगा..!


रायपुर छत्तीसगढ़: छत्तीसगढ़ राज्य की दो महिला टीकाकर्मियों द्वारा कोरोना टीकाकरण का एक काफ़ी बड़ा रिकॉर्ड बनाया गया है। इन दो महिलाओं के द्वारा ही एक कुल लाख 15 हजार 796 टीके लगा दिए गए हैं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर इन दोनो को केंद्र सरकार राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित करने जा रही है। इन महिलाओं का पूरे देश भर में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली टीकाकरण टीम में चयन किया गया है।


यह भी पढ़े : भोरमदेव मंदिर कबीरधाम कवार्धा, छत्तीसगढ़ का खजुराहों खेलती है भोरमदेव स्थित यह मंदिर, कोणार्क के सूर्य मंदिर से होती है तुलना।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के द्वारा यह बताया गया है कि, कबीरधाम जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पोड़ी की टीकाकरण कर्मी पिंकी खरे के द्वारा कोरोना टीकाकरण अभियान के दौरान अकेले कुल 70 हजार 333 टीके लगाए गए हैं। यह उपलब्धि उन्होंने कुल 425 सत्रों में पूरी की है। वहीं रायगढ़ जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र किरोड़ीमल नगर में तैनात प्रमिला देवांगन के द्वारा 402 सत्रों में अकेले कुल 45 हजार 463 टीके लगाए गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा कोरोना टीकाकरण के लिए तैयार कोविन एप्लीकेशन में दर्ज डेटा के मूल्यांकन के आधार पर पुरस्कार के लिए राज्य की इन दोनों टीकाकरण कर्मियों का चयन किया गया है। बताया यह भी गया है कि पुरस्कार समारोह मंगलवार को दिल्ली में आयोजित किया जायेगा है।


यह भी पढ़े : डोंगरगढ़ स्थित बमलेश्वरी माता मंदिर, नवरात्री में लगती है भक्तों की भारी भीड़, 24 घंटे खुली रहती है मंदिर के पट।

पूरे भारत में जनवरी 2021 से टीकाकरण शुरु हुआ था: कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत हमरे भारत देश में 16 जनवरी 2021 से हुआ था। अब तक कुल एक करोड़ 97 लाख 68 हजार 917 लोगों को कोरोना का कम से कम एक टीका तो लगाया ही जा चुका है। यह तय लक्ष्य से भी बहुत अधिक है। करीब 83% यानी कुल एक करोड़ 63 लाख 40 हजार 546 लोगों को टीके की दोनों डाेज भी लगाई जा चुकी है। 15 से 18 साल आयु वर्ग के कुल 7 लाख 19 हजार 546 यानी 44% किशोरों को टीके की दोनों डाेज भी लगाई जा चुकी है। वहीं कुल 3 लाख 85 हजार 721 लोगों को बूस्टर डोज दिया जा चुका है।


यह भी पढ़े : छत्तीसगढ में अब कास्ट सर्टिफिकेट बनवाना हुआ बेहद आसान, वार्ड में ही बन जायेंगे जाति प्रमाण पत्र, सरकार ने दिया निगमों को अधिकार।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ